Ration Card: यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के आदेश पर वसूली शुरू, इन लोगो ने डर के मारे किया अपना राशन कार्ड सरेंडर

Ration Card: यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के आदेश पर वसूली शुरू, इन लोगो ने डर के मारे किया अपना राशन कार्ड सरेंडर

मुजफ्फरनगर राशन कार्ड:यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के आदेश पर शुरू हुई वसूली, इन लोगों ने डर के मारे अपने राशन कार्ड सरेंडर कर दिए. दरअसल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य भर के जिला प्रशासनों को अपात्र कार्ड धारकों के खिलाफ कार्रवाई करने के साथ ही मुफ्त में गेहूं, चावल और खाद्य सामग्री लेने वाले अपात्र कार्ड धारकों की लंबी सूची तैयार करने का आदेश दिया है. दे दिया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी आपातकालीन कार्ड धारकों को जल्द से जल्द राशन कार्ड सरेंडर करने की चेतावनी भी दी है।

Ration Card: यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के आदेश पर वसूली शुरू, इन लोगो ने डर के मारे किया अपना राशन कार्ड सरेंडर
Ration Card: यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के आदेश पर वसूली शुरू, इन लोगो ने डर के मारे किया अपना राशन कार्ड सरेंडर

अपात्र कार्डधारियों की सूची तैयार कर वसूली के आदेश जारी

उधर, मुख्यमंत्री के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने जिला आपूर्ति अधिकारी व सभी राशन डीलरों के साथ बैठक कर अपात्रों को राशन कार्ड सरेंडर करने की तैयारी की. अपात्र कार्ड धारकों की सूची की वसूली के लिए। आदेश दिया है। मुख्यमंत्री का आदेश जिला प्रशासन के पास पहुंचते ही इसे लागू करना शुरू कर दिया गया. सैकड़ों अपात्र कार्डधारक राशन सरेंडर करने जिला आपूर्ति अधिकारी के यहां पहुंचे।

गलत जानकारी देकर लोगों ने बनवाए अंत्योदय कार्ड

मुजफ्फरनगर के जिला अधिकारी चंद्र भूषण सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि सरकार ने खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत आदेश दिया है कि ऐसे लोग या तो अंत्योदय के पात्र हैं या ऐसे पात्र परिवारों में आते हैं, जिनकी शहरी और ग्रामीण के बीच की सीमा है. . क्षेत्र। ग्रामीण क्षेत्रों में 74 प्रतिशत और शहरी क्षेत्रों में 64 प्रतिशत। हमारे जिले में बहुत से लोग जो पात्रता के दायरे में नहीं आते हैं, उन्होंने अपनी जानकारी छिपाकर अंत्योदय कार्ड की पात्रता ली है। इसी तरह पात्र परिवार में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो वास्तव में पात्र नहीं हैं। वैसे भी मुजफ्फरनगर जिला बहुत समृद्ध है। ऐसे में इस तरह का काम करने वालों के खिलाफ शासन स्तर से आदेश जारी कर दिए गए हैं और मेरे द्वारा भी इस मामले में कार्रवाई की जा रही है.

800 अंत्योदय कार्ड धारकों ने खुद राशन लेना बंद कर दिया है

जिलाधिकारी ने आगे कहा कि हमें जो जानकारी मिली है उसमें 800 ऐसे अंत्योदय कार्ड धारक हैं जिन्होंने खुद राशन लेना बंद कर दिया है और 13 हजार यूनिट ऐसे कार्डधारक हैं जो राशन लेने नहीं आ रहे हैं. इसी क्रम में बड़ी संख्या में कार्डधारकों ने अपने राशन कार्ड सरेंडर कर दिए हैं। क्योंकि यह स्पष्ट है कि कोई भी अपात्र कार्डधारक राशन ले रहा है, उसके खिलाफ वसूली की कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में हम बैठक कर अभियान भी चला रहे हैं. सभी कार्डधारकों का सत्यापन किया जा रहा है, यदि कोई कार्डधारक अपात्र पाया जाता है तो उसके खिलाफ वसूली की कार्रवाई की जाएगी। यानी अपात्र कार्डधारक ने जो भी गेहूं, चावल और चीनी ली है, उसकी वसूली की जाएगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page