Ration Card 2022: राशन कार्ड धारको को मुफ्त राशन के साथ मिलेंगे साल 3 गैस सिलेंडर बिलकुल फ्री

Ration Card 2022: राशन कार्ड धारको को मुफ्त राशन के साथ मिलेंगे साल 3 गैस सिलेंडर बिलकुल फ्री

fRation Card 2022: राशन कार्ड धारको को मुफ्त राशन के साथ मिलेंगे साल 3 गैस सिलेंडर बिलकुल फ्री

Ration Card 2022: कोरोना वायरस महामारी ने अर्थव्यवस्था पर कहर बरपा रखा है, जिससे मेहनतकशों को भारी आर्थिक नुकसान हुआ है, जिसकी भरपाई के लिए लोग अब भी मेहनत कर रहे हैं. केंद्र और राज्य सरकारें ग्रामीण, शहरी और शहरी गरीबों की मदद के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं, ताकि लोग आर्थिक रूप से मजबूत हो सकें। इस बीच अगर आपके पास राशन कार्ड है तो यह खबर आपको खुश कर देगी। आजकल सरकार राशन कार्ड धारकों को मुफ्त गैस सिलेंडर दे रही है, जिससे आप तत्काल लाभ ले सकते हैं, जिसके लिए कुछ शर्तें रखी गई हैं। सिलिंडर नि:शुल्क उपलब्ध कराए जाएंगे। यह ऑफर राज्य सरकार द्वारा अंत्योदय कार्ड धारकों को दिया जा रहा है, जिसका लाभ सभी वर्ग के लोग उठा सकते हैं।

उत्तराखंड कैबिनेट की बैठक के बाद मुख्य सचिव एसएस संधू ने कहा कि इस फैसले से राज्य के 1,84,142 अंत्योदय कार्ड धारकों को फायदा होगा. इस पर कुल 55 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। पहले की तरह गेहूं की खरीद पर किसानों को 20 रुपये प्रति क्विंटल बोनस देने का फैसला किया गया है.

इससे हजारों कार्डधारकों को फायदा होगा

जिला आपूर्ति अधिकारी सुरेंद्र यादव ने कहा कि उज्ज्वला योजना के तहत सभी राशन कार्ड धारकों को अब सस्ते राशन के साथ साल में 3 बार मुफ्त गैस सिलेंडर का लाभ दिया जाएगा.  इस योजना के तहत अब तक केवल अंत्योदय कार्ड धारक, एससी-एसटी, पिछड़े वर्ग के लोग ही उज्ज्वला योजना के पात्र थे, लेकिन अब सामान्य वर्ग के लोगों को भी उज्ज्वला योजना के तहत गैस सिलेंडर का मुफ्त वितरण मिलेगा।

राशन कार्ड नियम: 

सरकार ने किये राशन कार्ड लिस्ट में कुछ नए बदलाब अगर आप राशन कार्ड का लाभ उठा रहे हैं तो यह खबर आपके लिए है। दरअसल, सरकार ने राशन वितरण के नियमों में बदलाव किया है, जो जून से लागू है। ऐसे में यहां जानिए किन नियमों में बदलाव किया जा रहा है। दरअसल, केंद्र सरकार द्वारा राज्यों में राशन कार्ड धारकों को गेहूं और चावल मुफ्त में बांटे जाते हैं। यह सीमा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण खाद्य योजना के तहत लागू की गई है। इसे गेहूं के बजाय चावल में बदल दिया गया है। अगर इसे लागू किया जाता है तो गेहूं से बेहतर चावल दिया जाएगा। यूपी-बिहार और केरल में नहीं मिलेगा गेहूं

नए नियमों ने गेहूं की सीमा कम कर दी है। यूपी, बिहार और केरल में अब गेहूं नहीं बांटा जाएगा। वहीं, दिल्ली, गुजरात, झारखंड, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में गेहूं के कोटे में कटौती की गई है। इन राज्यों में कार्डधारकों को गेहूं कम और चावल ज्यादा मिलेगा। बाकी राज्यों में कोई बदलाव नहीं किया गया।

सरकार ने क्यों लिया यह फैसला?

दरअसल गेहूं खरीद कम होने के कारण यह फैसला लिया गया।  इस बीच, अतिरिक्त 5.5 मिलियन मीट्रिक टन चावल वितरित किया जाएगा, खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने कहा।  यह बदलाव केवल PMGKAY के लिए है।  इसके परिणामस्वरूप कुछ राज्यों में कम गेहूं और अधिक चावल होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page